ब्रिटिश शासन का भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव Effect On The Indian Economy Of British Rule

ब्रिटिश शासन का भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव

  • अनौद्योगीकरण- भारतीय हस्तशिल्प का ह्रास
  • कृषकों की बढ़ती हुई दरिद्रता
  • पुराने जमींदारों की तबाही तथा नयीं जमीदारीं व्यवस्था का उदय
  • कृषि में स्थिरता एवं बर्बादी
  • भारतीय कृषि का वाणिज्यीकरण
  • आधुनिक उद्योगों का विकास
  • राष्ट्रीय बुर्जुआ वर्ग का उदय
  • आर्थिक निकास
  • अकाल एवं गरीबी
औपनिवेशिक अर्थव्यवस्या की राष्ट्रवादी आलोचना

  • औपनिवेशिक शोषण के कारण ही भारत दिनोंदिन निर्धन होता जा रहा है,
  • गरीबी की समस्या एवं निर्धनता में वृद्धि।
  • औद्योगिकीकरण का विदेशी हितों के अनुरूप होना। इसे भारतीय हितों के अनुरूप होना चाहिए।
  • ब्रिटिश शासन की व्यापार, वित, आधारभूत विकास तथा व्यय की नीतियां साम्राज्यवादी हितों के अनुरूप हैं।
  • भारतीय शोषण को रोकने एवं भारत की स्वतंत्रता अर्थव्यवस्था को विकसित करने की मांग।
  • रेलवे का विकास अंग्रेजों ने अपने व्यापारिक लाभ के लिये किया है, न कि भारत के विकास के लिये।

One thought on “ब्रिटिश शासन का भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव Effect On The Indian Economy Of British Rule

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.