सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) Sarva Shiksha Abhiyan - SSA

2001-02 में शुरू किया गया सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) वर्तमान में चल रहा एक व्यापक कार्यक्रम है और प्रारंभिक शिक्षा उपलब्ध कराने का मुख्य साधन है। सर्व शिक्षा अभियान के लक्ष्य निम्नलिखित हैं-

  1. 2005 तक सभी बच्चों का स्कूलों, शिक्षा गारंटी केंद्रों, वैकल्पिक स्कूल, ब्लॉक टू स्कूल कैंपों में दाखिला करना,
  2. प्राथमिक अवस्था में वर्ष 2007 तक और प्रारम्भिक शिक्षा के स्तर पर 2010 तक सभी लिंग और सामाजिक श्रेणी के अन्तर को समाप्त करना,
  3. वर्ष 2010 तक सार्वभौमिकं प्रतिघारण, औरः
  4. जीवन के लिए शिक्षा पर जोर देते हुए संतोषजनक गुणवत्ता की प्रारंभिक शिक्षा पर ध्यान केन्द्रित करना।

शिक्षा के अधिकार के अधिनियम के प्रावधानों को सर्वशिक्षा अभियान के जरिए कार्यान्वित किया जाता है। शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 की आवश्यकताओं के अनुरूप अभियान के तौर-तरीकों में आवश्यक संशोधन किए गए हैं।

राज्यों के भागीदारी में कार्यान्वित सर्वशिक्षा अभियान 6-14 वर्ष के आयु वर्ग में 209 मिलियन बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करता है। यह 9.72 लाख विद्यमान प्राइमरी और अपर प्राइमरी विद्यालयों तथा 36.95 लाख अपर अध्यापकों को कवर करता है।

यह कार्यक्रम पूरे देश में लागू किया जाएगा तथा इसमें बालिकाओं, अनुसूचित जाति/जनजाति के छात्रों तथा दुष्कर परिस्थितियों में रह रहे छात्रों में अभी तक स्कूल नहीं हैं, वहां नए स्कूल खोलना तथा अतिरिक्त कक्षाओं हेतु नए कमरे, शौचालय, रखरखाव एवं स्कूल सुधार अनुदान के माध्यम से नए स्कूल खोलना और पुष्ट करना शामिल है।

योजनांतर्गत 6 से 11 वर्ष तक की आयु के सभी बच्चों को वर्ष 2007 तक पांच वर्ष की तथा 11 से 14 वर्ष तक के बच्चों को 8 वर्ष की उच्च प्राथमिक शिक्षा प्रदान करने हेतु केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों के सहयोग से पूरा प्रयास किया जा रहा है।

ज्ञातव्य है कि सभी की शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए यूनेस्को ने सन् 2015 तक की समय सीमा निर्धारित की है। सर्वशिक्षा अभियान के बेहतर एवं समग्र क्रियान्वयन हेतु प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय सर्वशिक्षा अभियान मिशन भी स्थापित किया गया है।

इस कार्यक्रम के अंतर्गत बालिका छात्रों तथा कमजोरवगाँके बच्चों पर विशेष ध्यान दिया गया है। इन छात्रों को ध्यान में रखकर विभिन्न कदम उठाए गए हैं, जैसे- मुफ्त पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराना,इत्यादि। डिजिटल डिवाइड को खत्म करने के लिए सर्वशिक्षा अभियान के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में कम्प्यूटर शिक्षा भी प्रदान की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.