मिश्रधातु, उनका संघटन और उपयोग Alloys, their Composition and Use

मिश्रधातु (Alloy): दो या अधिक धातुओं या एक या अधिक धातु एवं एक अधातु के समांगी मिश्रण को मिश्रधातु कहा जाता है। यदि मिश्रधातु का एक अवयव पारा (Hg) हो, तो वैसा मिश्रधातु अमलगम (Amalgam) कहलाता है। प्रत्येक मिश्रधातु में कुछ निश्चित उपयोगी गुण होते हैं। ये गुण मिश्रधातु बनाने वाले अवयवी तत्वों के मूल गुणों से भिन्न होते हैं। अवयवी तत्वों के अनुपात को कम या अधिक करके इन गुणों में परिवर्तन किया जा सकता है। मिश्रधातुओं में निम्नलिखित विशेषताएं पायी जाती है-

  1. मिश्रधातुएँ अपनी अवयवी धातुओं से प्रायः अधिक कठोर होती हैं।
  2. मिश्रधातुएँ अपनी अवयवी धातुओं की अपेक्षा अधिक संक्षारणरोधी होती हैं।
  3. इनके गलनांक शुद्ध अवयवी धातुओं की तुलना में प्रायः कम होते हैं।
मिश्रधातुसंघटनउपयोग
पीतलCu-70%, Zn-30%तार, मशीनों के पुर्जे, बर्तन के रूप में
कांसाCu-88%, Sn-12%बर्तन, मूर्तियाँ बनाने में
कृत्रिम सोनाCu-90%, A1-10%आभूषण तथा मूर्तियाँ बनाने में
मुद्रा धातुCu-95%, Sn−4%, P-1%मुद्राएँ बनाने में
गन मेटलCu-88%, Sn-10%, Zn-2%बन्दूक तथा मशीनों के पुर्जे के रूप में
बेल मेटलCu-80%, Sn-20%घंटा बनाने में
कान्सटैंटनCu-60%, Ni-40%तार के रूप में
मोनल मेटलCu-28%,Fe-2%,Ni-70%मूर्तियाँ बनाने में
जर्मन सिल्वरCu-50-61.6%, Zn-19-17.2%, Ni–30–21.1%बर्तन, मूर्तियाँ बनाने में
डच मेटलCu-80%, Zn-20%मशीनों के पुर्जे बनाने में
मैग्नेलियमAl-95%, Mg-5%वायुयान व जहाज बनाने में
ड्यूरेलुमिनAl-95%, Mg-1%, Cu-4%वायुयान, प्रेशर कुकर आदि बनाने में
एलुमिनियम ब्रांजAl-10%, Cu-90%बर्तन, मुद्रायें, आभूषण, पेन्ट आदि बनाने में
नाइक्रोमNi–58–62%, Fe-22-25%, Cr-8–13%, C-0.2-1% Mn, Zn, SiO,-1-2%विद्युत् तापन अवयव बनाने में
सोल्डरPb-68% Sn-3.2%वैद्युत् सम्बन्ध में
एल्निकोSteel-50%, A1-20%, Ni–20%, Co-10%चुम्बकों के निर्माण में
मैंगनीज स्टीलMn-14%, Fe-80-85%तिजोरियों, रेल की पटरियों में लगे गर्डर, कूटने और पीसने की मशीनों में
क्रोमियम स्टीलCr-2-4%, C-1-5%, Fe-90-95%काटने वाले औजार, मशीन, गोलियां आदि बनाने में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *