विश्व सीमा शुल्क संगठन World Customs Organization - WCO

मुख्यालयः बुसेल्स (बेल्जियम)

सदस्यताः जनवरी 2014 की स्थिति के अनुसार 179 सीमा शुल्क प्रशासन

उत्पत्ति एवं उद्देश्य

विश्व सीमा शुल्क संगठन की स्थापना 1952 में सीमा शुल्क सहयोग परिषद के रूप में की गयी थी। यह एक अंतरसरकारी संगठन है। डब्ल्यूसीओ का मूल उद्देश्य संपूर्ण विश्व में सीमा शुल्क प्रशासनों की प्रभावशीलता एवं कार्यक्षमता में वृद्धि लाना है।

वर्ष 1947 में व्यापार एवं प्रशुल्कों पर सामान्य समझौता (गैट) द्वारा पहचाने गए सीमाकर मामलों के परीक्षण हेतु 13 यूरोपीय देशों ने एक अध्ययन दल की स्थापना की। डब्ल्यूसीओ की सदस्यता निरंतर विश्व के सभी क्षेत्रों में पहुंच गई। 1994 में संगठन ने इसका वर्तमान नाम विश्व सीमाकर संगठन (डब्ल्यूसीओ) अपनाया। आज, डब्ल्यूसीओ के सदस्य विश्व के 94 प्रतिशत से अधिक व्यापार के सीमाकर नियंत्रण के लिए उत्तरदायी हैं।

गतिविधियां

अपनी विश्व भर में सदस्यता के साथ, डब्ल्यूसीओ के उल्लेखनीय कार्य क्षेत्रों में शामिल हैं- वैश्विक मानकों का विकास, सीमाकर प्रक्रियाओं का सरलीकरण एवं हितकारी करना, व्यापार आपूर्ति श्रृंखला सुरक्षा, अंतरराष्ट्रीय व्यापार को सुसाध्य बनाना, सीमाकर प्रवर्तन और सम्बद्ध गतिविधियों में वृद्धि करना, नकल विरोधी कदम उठाना, निजी-सार्वजनिक भागीदारीसंवर्द्धन, समन्वित प्रोत्साहन, सतत वैश्विक सिमकार क्षमता निर्माण कार्यक्रम मजबूत करना। डब्ल्यूसीओ वस्तु नामकरण सौहाद्रीकरण तंत्र को व्यवस्थित करने का कार्य भी करता है। सीमाकर मूल्य वर्द्धितकरण और उद्गम नियमों पर डब्ल्यूटीओ समझौते के तकनीकी पहलुओं को भी प्रशासित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.