उत्तर प्रदेश, राजस्थान और आंध्रप्रदेश में स्मार्ट सिटी बनाने में मदद करेगा अमेरिका USA Will Help To Develop Smart City In Uttar Pradesh, Rajasthan And Andhra Pradesh

इलाहाबाद, अजमेर और विशाखापट्टनम को स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने के लिए यूएसटीडीए (USTDA- United States Trade and Development Agency) ने सहमति करार पर दस्तख्त किए। यूएसटीडीए संभाव्यता अध्ययन और सलाहकार सेवा के लिए फंड मुहैया कराएगी और अमरिकी कंपिनयां इसके लिए संसाधन  जुटाएंगीं|

यूनाइटेड स्टेट्स ट्रेड एंड डेवलपमेंट एजेंसी (USTDA) ने भारत में स्मार्ट सिटी विकिसित करने के लिए तीन सहमति करार पर दस्तख्त किए। यूएसटीडीए इसके तहत उत्तर प्रदेश, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में स्मार्ट शहर विकसित करने में सहयोग करने के लिए एजेंसी ने इन तीनों राज्यों से सहमति करार पर दस्तख्त किए। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, राजस्थान के अजमेर और आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम को स्मार्ट शहर विकसित करने के लिए इस सहमति करार पर दस्तख्त शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू की मौजूदगी में हुए।

यूएसटीडीए की ओर से इसके निदेशक श्री लियोकार्डिया आई जेक और उत्तर प्रदेश, राजस्थान आंध्र प्रदेश की ओर से क्रमशः मुख्य सचिवों श्री आलोक रंजन, श्री सी.एस. रंजन और आई.वी.आर. कृष्णा राव ने करार पर दस्तख्त किए।

सहमति करार के तहत यूएसटीडए जरूरी संभाव्यता अध्ययनों और पायलट परियोजनाओं के लिए फंड मुहैया कराएगी। इसके साथ ही अध्ययन यात्राओं, कार्यशाला, प्रशिक्षण और दूसरी परियोजनाओं को भी पारस्परिक तौर पर निर्धारित किया जाएगा। एजेंसी स्मार्ट सिटी विकसित करने में दी जाने वाली सहायता के तहत सलाहकार सेवाएं भी मुहैया कराएगी।

यूएसटीडीए अमेरिकी वाणिज्य विभाग, यूएस एक्जिम बैंक और भारत और अमेरिका के बीच बुनियादी ढांचा विकसित करने की दिशा में मदद करने वाली दूसरी वाणिज्यिक और आर्थिक एजेंसियों के साथ भी गठजोड़ करेगी और स्मार्ट शहर विकसित करने में मदद करेगी। यूएसटीडीए भारत में विकसित होने वाले स्मार्ट शहरों के अहम उड्डयन और ऊर्जा इन्फ्रास्ट्रक्चर की जरूरतों को पूरा करने कि लिए अमेरिकी उद्योग संगठनों की भी मदद करेगी ताकि वे इस काम के लिए निजी क्षेत्र के अनुभवों और संसाधन जुटा सकें।

इस सहमति करार के तहत संबंधित राज्य भी स्मार्ट सिटी परियोजना को बढ़ावा देने इससे जुड़े कार्यों के समन्वय और सुविधाएं जुटाने में अपने संसाधन मुहैया कराएंगे। तकनीकी जानकारी, योजना से जुड़े आंकड़े, कर्मचारी, साजो-सामान और यात्रा सुविधा देने के लिए भी राज्य अपने संसाधन मुहैया कराएंगे।

सहमति करार में 30 सितंबर 2014 को अमेरिकी राष्ट्रपति श्री बराक ओबामा और भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के बीच हुई द्विपक्षीय शिखर बैठक के बाद जारी साझा बयान का जिक्र किया गया है। इस बयान में इलाहाबाद, अजमेर और विशाखापट्टनम में स्मार्ट शहर विकसित करने के लिए भारत के प्रस्ताव का अमेरिका ने स्वागत किया था।

इस मौके पर श्री वेंकैया नायडू ने कहा कि सहमति करार पर दस्तख्त होने के साथ ही भारत और अमेरिका के सहयोग ने एक नया आयाम ले लिया है। यह समझौता देश में स्मार्ट शहरों को विकसित करने में अहम योगदान देगा। सहमति करार पर दस्तख्त करने के दौरान शहरी विकास मंत्रालय के सचिव श्री शंकर अग्रवाल, स्मार्ट शहर के संयुक्त सचिव डॉ. समीर शर्मा शहरी विकास मंत्रालय और यूएसटीडीए के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.