संघ कार्डेटा Phylum Chordata

इस संघ की स्थापना बैल्फोर (Balfour) नामक वैज्ञानिक ने की थी। इस संघ की 55,000 विद्यमान एवं 25,000 विलुप्त जातियाँ (species) ज्ञात हैं। इस संघ के अन्तर्गत उन जन्तुओं को रखा जाता है जिनके जीवन चक्र की किसी-न-किसी अवस्था में एक पृष्ठ रज्जु एवं एक खोखली पृष्ठ तंत्रिका रज्जु (Dorsal tubular nerve chord) पायी जाती है। इस संघ के जन्तुओं के प्रमुख लक्षण निम्नलिखित हैं-

  • इनके जीवन की किसी-न-किसी अवस्था में एक पृष्ठरज्जु (Notochord) अवश्य पायी जाती है। पृष्ठ-रज्जु का विकास मीसोडर्म (Mesoderm) से होता है।
  • इनके जीवन की किसी-न-किसी अवस्था में एक पृष्ठ नालाकार केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र अवश्य पाया जाता है। भ्रूणीय विकास में इसका निर्माण एक्टोडर्म (Ectoderm) से होता है। विकसित होने पर इसके चारों ओर कशेरुक दण्ड का निर्माण होता है।
  • इस संघ के जन्तुओं में जीवन की किसी-न-किसी अवस्था में क्लोम दरारें अवश्य पायी जाती हैं।
  • इनमें पूर्ण विकसित रक्त परिसंचरण तंत्र पाया जाता है जो बंद प्रकार (Closed type) का होता है।
  • इनमें पूर्ण विकसित मस्तिष्क एवं तंत्रिका तंत्र पाया जाता है।
  • संघ कार्डेटा एक काफी बड़ा एवं महत्वपूर्ण संघ है।
  • अध्ययन की सुविधा हेतु इसे पुनः 13 वर्गों में विभाजित किया गया है। संघ काडेंटा के कुछ प्रमुख वर्ग-

मत्स्य वर्ग (Class Pisces):

  • इसके अन्तर्गत मछलियाँ आती हैं जो लवणीय (Marine) और मृदु जल (Freshwater) में पायी जाती हैं।
  • ये सभी अनियततापी जन्तु (Cold blooded animal या Poikilothermal) हैं।
  • इनका शरीर धारारेखित एवं बाह्य ककाल शल्कों के रूप में होता है।
  • इनमें श्वसन क्लोम (Gills) द्वारा होता है।
  • इनका हृदय द्विवेश्मी (Bilobed) होता है और केवल अशुद्ध रक्त ही पम्प करता है।
  • ये जल में अण्डे देनेवाले वर्टिब्रेट (vertibrate) हैं।

उदाहरण - शार्क (Scoliodon), टॉरपीडो (Torpedo), रोहू (Labeo), कतला (Catla), भेटकी (Bhetki), हिप्पोकैम्पस (Hippocampus), एनाबस (Anabas), मांगुर (Clarias), गरई (Ophiocephalus), सिंगी (Hetero pneustes), प्रोटोप्टेरस (Protopterus) आदि।

महत्वपूर्ण तथ्य:

  • हिप्पोकैम्पस एक समुद्री मीन है तथा इसे समुद्री घोड़ा (sea horse) कहते हैं, क्योंकि यह देखने में एक छोटे घोड़े जैसा लगता है।
  • रोहू मछली का वैज्ञानिक नाम लेबिओ रोहिता (Labeo rohita) है।
  • मांगुर (Magur) को कैटफिश (Cat fish) के नाम से जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम Clarias batrachus) है।
  • शार्क (Shark) या स्कोलियोडॉन (scoliodon) को डॉगफिश (Dog fish) तथा टॉरपीडो को इलेक्ट्रिक रे (Electric ray) के नाम से जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *