राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य National Optical Fiber Network: Important Facts

राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क National Optical Fibre Network – NOFN

वर्तमान में ओएफसी(ऑप्टिकल फाइबर केबल) कनेक्टिविटी सभी राज्यों की राजधानियों, जिलों, मुख्यालयों और ब्लॉक स्तर तक उपलब्ध है। अब इसे देश के सभी 2,50,000 ग्राम पंचायतों को कनेक्ट करने की योजना है। इसे सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के मौजूदा फाइबर (बीएसएनएल, रेलटेल और पावर ग्रिड) को ग्राम पंचायतों को कनेक्ट करने के लिए जहां तक आवश्यक हो, उपयोग करने और संवर्द्धित फाइबर बिछाने के लिए किया जाएगा। इस प्रकार से ग्राम पंचायतों और प्रखंडों के बीच कनेक्टिविटी के अंतर को कम किया जाएगा।

एनओएफएन का गैर भेदभावपूर्ण उपयोग सभी सेवा प्रदाताओं को प्रदान किया जाएगा। सेवा प्रदाताओं में दूरसंचार सेवा प्रदाताएं(TSPs), आईएसपी, केबल टीवी ऑपरेटरों और सामग्री प्रदाताओं की तरह  ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न सेवाओं को शुरू कर सकते हैं।  विभिन्न श्रेणियों के अनुप्रयोगों जैसे कि ई- स्वास्थ्य, ई-शिक्षा और ई-गवर्नेंस आदि के इन ऑपरेटरों द्वारा उपलब्ध कराया जा सकता है। एनओएफएन परियोजना की  अनुमानित लागत 20,000 करोड़ रुपए है, जिसे दो वर्ष में पूरा किया जाना प्रस्तावित है। इस परियोजना के लिए सार्वभौमिक सेवा दायित्व निधि (यूएसओएफ) द्वारा धन उपलब्ध करवाया जाएगा।

राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क क्या है?

भारत सरकार ने देश में सभी 2,50,000 ग्राम पंचायतों के लिए कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क(एनओएफएन) की स्थापना की है, जिसकी  मंजूरी 25 अक्टूबर,2011 को दे दी गई। यह पर्याप्त बैंडविड्थ के साथ ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी को  सुनिश्चित करेगा। इससे मौजूदा ऑप्टिकल फाइबर का उपयोग और ग्राम पंचायतों में विस्तार को हासिल करना संभव हो  पाएगा।

बीबीएनएल ((Bharat Broadband Network Limited - BBNL) क्या है?

भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड ( बीबीएनएल) को एक विशेष उद्देश्य के लिए स्थापित किया गया है।  इसकी स्थापना भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (एनओएफएन) के प्रबंधन और संचालन के लिए की गई  है। बीबीएनएल एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम (पीएसयू) / कंपनी रूप में कंपनी अधिनियम(1956) के तहत शामिल किया गया है। बीबीएनएल 25 फरवरी,2012 को निगमित किया गया था।

एनओएफएन से हमें क्या लाभ मिल पाएगा?

एनओएफएन में शिक्षा, व्यापार, मनोरंजन, पर्यावरण, स्वास्थ्य, घरों और ई-गवर्नेंस सेवाओं के रूप में हमारे जीवन के कई पहलुओं को बदलने की क्षमता है। इस तरह के क्षेत्रों के  लिए वीडियो सहित, डेटा, इंटरनेट, टेलीफोन सेवाएं है,  जिन्हें टीएसपीएस/आईपीएस के द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।

बीबीएनएल द्वारा दी जाने वाली विभिन्न सेवाओं की  सुविधाएं किस तरह की हो सकती हैं?

मिलने वाली सुविधाओं में जी2सी, बी2बी, पी2पी, बी2सी आदि हैं। इनके द्वारा ई-शिक्षा, दूरस्थ स्वास्थ्य की निगरानी, ई-प्रशासन, मौसम, कृषि आदि दायरे में होंगे। राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क के माध्यम से आम आदमी तक पहुँचा जा सकता है। इन सेवाओं को टीएसपीएस/आईपीएस के द्वारा दी  जाएंगी। बीबीएनएल सेवा प्रदाताओं की सभी श्रेणियों के लिए बैंडविड्थ उपलब्ध कराएगी।

राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड के संचालन के लिए सरकार की नीति क्या है?

राष्ट्रीय दूरसंचार नीति (एनटीपी) 2012 के अनुसार -

वर्ष 2015 तक मांग के अनुसार सस्ती और विश्वसनीय ब्रॉडबैंड।

वर्ष 2017 तक 175 लाख कनेक्शन का लक्ष्य।

वर्ष 2020 तक कम से कम 2 एमबीपीएस की गति और मांग के अनुसार 100 एमबीपीएस तक उच्च गति के 600 लाख कनेक्शन का लक्ष्य।

शिक्षा और स्वास्थ्य की दिशा में और काम की तरह एक बुनियादी आवश्यकता के रूप में दूरसंचार और बी.बी. कनेक्टिविटी को “ब्रॉडबैंड के लिए अधिकार” को पहचानना।

मौजूदा व्यवस्थाओं के बीच तालमेल किया जा रहा है और भविष्य में सरकार के कार्यक्रमों में ई-शासन, ई-पंचायत, मनरेगा, एनकेएन, आकश आदि एवं ब्रॉडबैंड को बुनियादी सुविधाओं के  आदान—प्रदान के  लिए सूचिबद्ध किया गया है।

ब्राडबैंड की प्रमुखता क्या है?

ब्रॉडबैंड सूचना और ज्ञान के लिए सस्ती और न्यायसंगत उपयो​गिता प्रदान कर लोगों के जीवन में सुधार लाने के लिए एक उपकरण है। ब्रॉडबैंड से व्यक्तियों की दैनिक जीवन शैली और व्यवहार पर सीधा प्रभाव पड़ता है। राज्यों के लिए यह अत्यधिक व्यापार और रोजगार सृजन की दिशा में योगदान देने वाला है।

पंचायतों के लिए विभिन्न अनुप्रयोग क्या हैं?

पंचायत प्रबंधनः- ग्राम सभा बैठकें, गांव के रिकॉर्ड, नागरिक आंकड़े के आधार पर पंचायतों के प्रभावी प्रदर्शन की निगरानी।

सामुदायिक भागीदारीः अंतर—ग्रामीण एवं संचार संसाधनों का प्रखंड और जिला के साथ अंतर-जिला स्तरीय बंटवारा।

ज्ञान प्रसारः कृषि के तरीकों, लघु उद्यमों के जरिये उत्पादकता तकनीक, व्यावसायिक शिक्षा की साझेदारी।

नागरिक सेवाओं का वितरणः स्वास्थ्य, शिक्षा और वित्त आदि नागरिक सेवाओं के वितरण में शामिल है। नागरिक बातचीत करने के लिए केन्द्र प्रायोजित / केन्द्रीय क्षेत्र / राज्य प्रायोजित योजनाओं से संबंधित शिकायत निवारण के लिए सरकार के एकसूत्री सुविधा।

विकास की योजना बनानाः अच्छी शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थानों के रूप में सड़क, परिवहन और बिजली कनेक्टिविटी एवं जानकारी की कनेक्टिविटी देना। पीने के पानी और मौजूदा स्वास्थ्य सुविधाएं एवं किसानों को अपने उत्पाद के लिए सबसे अच्छा मूल्य प्राप्त करने के लिए सक्षम कनेक्टिविटी के उन्नयन का प्रावधान।

एनओएफएन के  द्वारा कितने पंचायतों को कवर किया जा रहे हैं?

राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (एनओएफएन) के  द्वारा 2,50,000 ग्राम पंचायतों के लिए कनेक्टिविटी प्रदान किया जा  रहा है।

क्या विभिन्न प्रौद्योगिकियों को इस्तेमाल किया जाना है?

उत्तरः राष्ट्रीय ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क परियोजना के  लिए जीपीओएन (गीगाबाईट निष्क्रिय ऑप्टिकल नेटवर्क) प्रौद्योगिकी को  इस्तेमाल किया जाएगा।  जीपीओएन एक खुला मानक तकनीक है।

जीपीओएन (Gigabit-capable Passive Optical Networks - GPON) तकनीक क्या है?

जीपीओएन को  गीगाबाईट निष्क्रिय ऑप्टिकल नेटवर्क के  रूप में जाना जाता है।

एक निष्क्रिय ऑप्टिकल नेटवर्क (passive optical network (PON)) एक ऐसे नेटवर्क का आर्किटेक्चर है, जो फाइबर केबल बिछाने और घरों में इस्तेमाल होने वाले एक प्वाइंट से मल्टीप्वाइंट की व्यवस्था के संकेतों को दर्शाता है तथा यह एक ऑप्टिकल फाइबर के कई परिसर की सेवा को सक्षम बनाता है। इस साझे वातावरण में डेटा सुरक्षा गोपनीय बना रहता है। आर्किटेक्चर निष्क्रिय (गैर संचालित) ऑप्टिकल अलग करने जैसा उपयोग करता है और उपकरणों की लागत प्वाइंट-टू-प्वाइंट आर्किटेक्चर की तुलना में कम हो जाती है।

जीपीओएन मानक (गिगाबाईट निष्क्रिय ऑप्टिकल नेटवर्क) दूसरे पीओएन मानकों से अलग है, जो उच्च बैंडविड्थ और बड़े एवं बदलाव वाली लंबाई के पैकेट के रूप में उपयोगी उच्च दक्षता को दर्शाता है। जीपीओएन फ्रेम विभाजन सेवा संवेदनशील आवाज की देरी और वीडियो संचार यातायात के लिए उच्च गुणवत्ता (QoS) की अनुमति के साथ उपयोगकर्ता ट्रैफ़िक को कुशल पैकेजिंग प्रदान करता है

जीपीओएन प्रौद्योगिकी में ओएलटी (Optical Line Terminal - OLT) क्या है?

ओएलटी को ऑप्टिकल लाइन टर्मिनेशन के रूप में जाना जाता है, जो जीपीओएन प्रौद्योगिकी में केंद्रीय कार्यालय के टर्मिनल की तरह इस्तेमाल में आता है।

जीपीओएन प्रौद्योगिकी में ओएनटी/ओएनयू (optical network units - ONU) क्या हैं?

ओएनटी/ओएनयू ऑप्टिकल नेटवर्क टर्मिनेशन अर्थात नेटवर्क की समापन और ऑप्टिकल नेटवर्क यूनिट के रूप में जाना जाता है। इसका इस्तेमाल उपयोगकर्ता के दायरे में किया जाता है।

संवर्द्घित फाइबर का कितना भाग  एनओएफएन के रूप में निर्धारित किया गया है?

एक अनुमान के मुताबिक संवर्द्घित ओएफसी को प्रति ग्राम पंचायत के लिए दो किलोमीटर निर्धारित किया जाना है। इस प्रकार एनओएफएन के अंतर्गत ओएफसी के कुल 5,00,000 किमी को निर्धारित करने की संभावना है।

किन सार्वजनिक उपक्रमों से परियोजना को पूरा करने की संभावना है?

भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड के द्वारा बीएसएनएल, रेलटेल और पीजीसीआईएल को काम के निष्पादन का जिम्मा सौंपा गया है।

कौन सी संस्थाएं या  एजेंसियां ​​एनओएफएन परियोजना के कार्यान्वयन के साथ जुड़ी हुई  हैं?

एनओएफएन परियोजना के लिए भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड के साथ बीएसएनएल, रेलटेल, पीजीसीआईएल, सी—डॉट, टीसीआईएल और एनआईसी काम कर रहे हैं। इस परियोजना के लिए यूएसओएफ से धन मुहैया करवाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.