राष्ट्रीय पर्यावरण नीति National Environment Policy

राष्ट्रीय पर्यावरण नीति (एनईपी), 2006 मुख्य पर्यावरणीय चुनौतियों, उनके कारणों एवं प्रभावों, नीति निर्माण एवं रणनीति में उद्देश्यों एवं सिद्धांतों का समावेशन, कार्यान्वयन एवं समीक्षा हेतु उदेश्यों एवं तंत्रों के कार्यवाही कार्यक्रम को शामिल करती है। इसकी सद्इच्छा पर्यावरणीय चिंताओं को सभी विकासपरक गतिविधियों एवं सम्बद्ध क्षेत्रीय नीतियों की मुख्यधारा में लाना है। नीति के मुख्य उद्देश्य हैं-

  • संकटग्रस्त पारिस्थितिक तंत्र, संसाधनों एवं बेशकीमती प्राकृतिक एवं मानवजनित विरासत का संरक्षण एवं परिरक्षण करना जो जीवन, आजीविका, आर्थिक संवृद्धि एवं मानव कल्याण के लिए बेहद आवश्यक हैं।
  • समाज के सभी वर्गों तक पर्यावरणीय संसाधनों एवं गुणवत्ता की एकसमान पहुंच सुनिश्चित करना और, विशिष्ट रूप से, उन निर्धनों तक इनकी पहुंच सुनिश्चित करना जो अपनी आजीविका के लिए पूरी तरह से पर्यावरणीय संसाधनों पर निर्भर हैं।
  • पर्यावरणीय संसाधनों के विवेकपूर्ण इस्तेमाल को सुनिश्चित करना ताकि वर्तमान जरूरतों के साथ-साथ ये भविष्य की पीढ़ियों की जरूरतों को भी पूरा कर सके।
  • पर्यावरणीय चिंताओं को योजनाओं, नीतियों एवं आर्थिक एवं सामाजिक विकास के प्रोजेक्टस से समन्वित करना।
  • पर्यावरण पर न्यूनतम प्रतिकूल प्रभाव डालते हुए, पर्यावरणीय संसाधनों का दक्षतापूर्ण इस्तेमाल सुनिश्चित करना।
  • पर्यावरणीय संसाधनों के विनियमन एवं प्रबंधन हेतु अभिशासन सिद्धांतों का प्रयोग करना।
  • संरक्षण प्रयासों के लिए उच्च संसाधन प्रवाह-वित्त, प्रविधि, परम्परागत ज्ञान, सामाजिक पूंजी एवं प्रबंधन कौशल को सुनिश्चित करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.