मैग्नीशियम Magnesium

प्राप्ति (Occurrence): मैग्नीशियम सल्फेट के रूप में मैग्नीशियम झरने में तथा मैग्नीशियम क्लोराइड के रूप में समुद्री जल में पाया जाता है। पौधे को हरा रंग देने वाले कार्बनिक यौगिक क्लोरोफिल (Chlorophyll) में भी मैग्नीशियम उपस्थित रहता है।

मैग्नीशियम का निष्कर्षण: मैग्नीशियम धातु का निष्कर्षण मुख्यतः कार्नालाइट (KCl.MgCl2.6H2O) अयस्क से किया जाता है।

मैग्नीशियम के भौतिक गुण: मैग्नीशियम चाँदी की तरह उजली एवं चमकीली धातु है। यह मुलायम, नम्य तथा प्रतन्य धातु है। अतः इसे आसानी से तार या फीते के रूप में प्राप्त किया जा सकता है। इसका द्रवणांक 650°C तथा क्वथनांक 110°C होता है। इसका आपेक्षिक घनत्व 1.75 होता है।

मैग्नीशियम के रासायनिक गुण: तनु अम्लों के साथ प्रतिक्रिया कर यह हाइड्रोजन गैस बनाता है। यह क्षार से किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नहीं करती है। तनु नाइट्रिक अम्ल के साथ यह मैग्नीशियम नाइट्रेट तथा अमोनियम नाइट्रेट बनाता है। शुष्क ईथर की उपस्थिति में यह इथाइल आयोडाइड या ब्रोमाइड से प्रतिक्रिया करके इथाइल मैग्नीशियम आयोडाइड या ब्रोमाइड बनाता है, जिसे ग्रिगनार्ड प्रतिकारक (Grignard's Reagent) कहते हैं। मैग्नीशियम नाइट्रोर्जन के साथ प्रतिक्रिया करके मैग्नीशियम नाइट्राइड बनाता है।

मैग्नीशियम के उपयोग: (i)फ्लैश लाइट रिबन (Flash Light Ribbon) बनाने में (ii) फोटोग्राफी एवं आतिशबाजी में (iii) ग्रिगनार्ड प्रतिकारक बनाने में (iv) मिश्रधातुओं के निर्माण में

मैग्नीशियम की मिश्रधातुएँ

मैग्नेलियमMagneliumMg-2%, Al-95% तथा Cu-Fe - 2-3%
ड्यूरालुमिनDuraluminAl-95%, Cu-4%, Mg-0.5%, Mn–0.5%
इलेक्ट्रानElektronMg-95%, Zn-4,5%, Cu-0.5%

 


नोट:

  • मैग्नेलियम मिश्रधातु काफी हल्का होता है। इस कारण इसका उपयोग हवाई जहाज, तराजू आदि के निर्माण में होता है।
  • ड्यूरालुमिन का उपयोग भी हवाई जहाज के निमfण में होता है। प्रेशर कुकर (Pressure cooker) भी ड्यूरालुमिन से बनाये जाते हैं।
  • इलेक्ट्रॉन का उपयोग भी हवाई जहाज एवं मोटरगाड़ी के ढांचा बनाने में होता है।
  • फ्लैश बल्बों में नाइट्रोजन गैस के वायुमंडल में मैग्नीशियम का तार रखा रहता है।

मैग्नीशियम के यौगिक

  1. मैग्नीशिया (Magnesia): मैग्नीशियम ऑक्साइड को मैग्नीशिया कहा जाता है। यह हल्के श्वेत रंग का चूर्ण होता है। यह जल में बहुत कम घुलनशील है। यह प्रतिदीप्तिशील प्रकाश उत्पन्न करता है। चूंकि यह बहुत ऊँचे ताप पर द्रवित होता है। अतः भट्ठों में इसका अस्तर (Lining) लगाया जाता है। इसका उपयोग दवा के रूप में पेट की अम्लीयता दूर करने में भी होता है।
  2. मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड (Magnesium Hydroxide): यह श्वेत रंग का पदार्थ है जो जल में अत्यन्त अल्प घुलनशील है। यह एक क्षार है। शीरा (Molasses) से चीनी के निष्कर्षण में मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड का उपयोग होता है।
  3. मैग्नीशियम सल्फेट (Magnesium sulphate): मैग्नीशियम सल्फेट प्रकृति में इप्सोमाइट के रूप में इप्सम के गर्म झरनों में पाया जाता है। यह रंगहीन रवेदार ठोस प्रदार्थ है। इसका उपयोग कपास उद्योग तथा साबुन एवं पेन्ट उद्योग में होता है। ग्रीलो विधि से सल्फ्यूरिक अम्ल बनाने में प्लैटिनीकृत MgSO4 का व्यवहार उत्प्रेरक के रूप में होता है। मैग्नीशियम सल्फेट का उपयोग दस्तावर (Purgative) के रूप में होता है। मैग्नीशियम सल्फेट या इप्सम लवण एक deliquescent यौगिक है।
  4. मैग्नीशियम कार्बोनेट (Magnesium Carbonate): यह मैग्नेसाइट या डोलोमाइट के रूप में प्रकृति में पाया जाता है। यह एक श्वेत ठोस पदार्थ है जो जल में घुलनशील है। मैग्नीशियम काबोंनेट का उपयोग छपाई की स्याही, दंत मंजन, चेहरे पर लगाने वाले पाउडर आदि बनाने में होता है। मैग्नीशियम एल्वा की तरह यह दवा के रूप में उपयोग होता है। यह पेट की अम्लीयता दूर करने के काम में आता है।
  5. मैग्नीशियम एल्वा (Magnesium Alva): मैग्नीशियम एल्वा [Mg(OH)2MgCO3.3H2O) का प्रयोग पेट की अम्लता दूर करने में किया जाता है। यह एक एन्टाएसिड है।
  6. सोरेल सीमेण्ट (Sorel Cement): MgCl2.5MgO.xH2O को सोरेल सीमेण्ट कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *