उद्योग Industry

औद्योगिक आर्थिक क्रियाकलापों को मुख्यतः चार वर्गों में बांटा जा सकता है:

प्राथमिक क्षेत्र (प्राइमरी सेक्टर)

इसमें मुख्यतः कच्चे माल के निष्कर्षण (extraction) से सम्बन्धित क्रियाकलाप आते हैं। जैसे - खनन (माइनिंग), कृषि आदि

द्वितियक क्षेत्र (सेकेन्डरी सेक्टर)

इसमें तेल-शोषक कारखाने, निर्माण (मैन्युफैक्चरिंग) से जुड़े उद्योग आदि आते हैं

तृतीयक क्षेत्र (टर्शियरी सेक्टर)

इसमें सेवायें जैसे कानून, बैंक, स्वास्थ्य एवं उत्पादों के वितरण से सम्बन्धित उद्योग आते हैं।

चतुर्थक क्षेत्र

यह अपेक्षाकृत नवीन क्षेत्र है। इसमें ज्ञान आधारित उद्योग आते हैं। जैसे अनुसंधान, डिजाइअन एवं विकास (R&D); कम्प्यूटर प्रोग्रामन, जैवरसायन आदि आते हैं।

इनके अतिरिक्त एक पांचवा क्षेत्र का अस्तित्व भी माना जाता है जो बिना लाभ के कार्य करने का क्षेत्र है।

  • आद्योगिक नीति 1997 के तहत उदारीकरण, निजीकरण, वैश्वीकरण एवं बाजारीकरण निट्टी की घोषणा की गयी।
  • केवल 5 उद्योगों के लिए ही लाइसेंस लेना अनिवार्य है।
  1. अल्कोहल युक्त पेय पदार्थ।
  2. तम्बाकू एवं उससे निर्मित सिगरेट, सिगार एवं अन्य वस्तुएं।
  3. इलेक्ट्रॉनिक, एयरोस्पेस तथा रक्षा से संबंधित सामान।
  4. विस्फोटक पदार्थ (दियासलाई)।
  5. जोखिम वाले रसायन।
  • मुंबई को सूती वस्त्रों की राजधानी, अहमदाबाद को पूर्व का बोस्टन, कानपूर को उत्तर भारत का मैनचेस्टर कहते हैं।
  • जूट को गोल्डन फाइबर ऑफ़ इंडिया कहते हैं। जूट से बने समान के उत्पादन में भारत का विश्व में प्रथम स्थान है।
  • इस्पात उत्पादन में भारत का विश्व में आठवां स्थान है।
  • भारत में एल्युमिनियम कंपनी बाल्को, 1965 कोरबा (छत्तीसगढ़) का संचालन किया जा रहा है।
  • भारत में रेल के इंजन चितरंजन- पश्चिम बंगाल, वाराणसी-उत्तर प्रदेश, जमशेदपुर-झारखण्ड, एवं भोपाल में निर्मित किये जाते हैं।
  • सीमेंट उत्पादन में राजस्थान का देश में प्रथम स्थान है।
  •  उर्वरक के उत्पादन में भारत का विश्व में तीसरा स्थान है, वर्तमान में 14 उर्वरक संयंत्र सावर्जनिक क्षेत्र में हैं।
  • भारत में 18 तेलशोधक कारखाने हैं। पहला तेल शोधक कारखाना 1901 में डिगबोई (असम) में स्थापित हुआ।
  • बंगलौर इलेक्ट्रॉनिक उद्योग की राजधानी है। भारत में 18 सॉफ्टवेर प्रौद्योगिकी पार्क विकसित किए गए हैं।
  • देश में चीनी मिलों की सर्वाधिक संज्ख्या उत्तर –प्रदेश में है, लेकिन चीनी उत्पादन की दृष्टि से महाराष्ट्र राज्य का प्रथम स्थान है।
  • रिलायंस पेट्रोलियम का 27 मिलियन तन वार्षिक क्षमता वाली जामनगर तेल शोधनशाला विश्व में सबसे बड़ी है।
  • सार्वजानिक क्षेत्र के मात्र 3 उद्योग आरक्षित हैं-
  1. परमाणु उर्जा
  2. परमाणु उर्जा विभाग द्वारा विशेष उत्पाद
  3. रेल परिवहन
  • उच्च प्राथमिकता प्राप्त 34 उद्योगों में ऋण सीमा 5% निश्चित कर दी गयी है।
  • 1955 में 3 बड़े स्टील प्लांट लगाये गए। भिलाई (छत्तीसगढ़), राउरकेला (उड़ीसा), दुर्गापुर (पश्चिम बंगाल) में क्रमशः रूस, जर्मन ब्रिटेन के सहयोग से लगाये गए।
  • भारत में प्रथम सूती मिल 1818 में फोर्ट ग्लोस्टर (कोलकाता के निकट) में तथा दूसरी मिल मुंबई में 1854 में जी.पन. डाबर द्वारा स्थापित की गयी।
  • वस्त्र पार्क की स्थापना 2003 में तमिलनाडु के एट्टीपरम्पलायम गाँव में की गयी और इसका नाम न्यू तिरुपुर रखा गया।
  • 2007-08 के बजट में जूट प्रौद्योगिकी मिशन तथा नेशनल जूट बोर्ड की स्थापना की गयी।

One thought on “उद्योग Industry

  • March 1, 2017 at 4:18 pm
    Permalink

    Thanks for take is knowledge

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.