भारत-लैटिन अमेरिकी एवं कैरिबियाई देश India-Latin American and Caribbean Countries

वर्तमान समानताओं एवं आर्थिक हितों के मद्देनजर लैटिन अमेरिका एवं कैरिबियाई देशों के भारत के साथ संबंध सुदृढ़ हुए हैं। वर्ष 2008-09 के अंतर्गत दोनों पक्षों के मध्य 21 समझौता ज्ञापनों पर सहमति हुई। भारत ने लैटिन अमेरिकी देशों में तेल और हाइड्रोकार्बन, आईसीटी,खनन, क्षेत्र जैसे क्षेत्रों में अपनी पहुंच का विस्तार किया। भारत ने लैटिन अमेरिकी एवं कैरिबियाई देशों के लिए विकास भागीदारी एवं सहयोग के तहत 16 करोड़ डॉलर की ऋण सहायता एवं 21.25 लाख डॉलर की आपदा राहत सामग्री प्रदान की है। इसके अतिरिक्त भारत द्वारा क्यूबा को प्रदान किए गए 128 करोड़ रुपए का वाणिज्यिक ऋण एवं ब्याज की माफी एवं हिन्दुस्तान एयरोनाटिकल लिमिटेड द्वारा इक्वेडोर को 7 एडवांस्ड लाइट (धुव) हेलीकॉप्टरों की बिक्री शामिल है।

विदेश राज्य मंत्री श्री ई. अहमद ने 29 अप्रैल से 5 मई, 2011 के दौरान गुआटेमाला, इक्वेडोर तथा पनामा की यात्रा की जबकि सचिव (पश्चिमी) श्री विवेक काटजू ने जुलाई 2011 में कोलम्बिया, त्रिनीडाड टोबैगो, जमैका तथा गुयाना की यात्रा की। इस क्षेत्र के साथ भारत के व्यापार का आंकड़ा 25.11 बिलियन अमेरिकी डॉलर तथा इस क्षेत्र में हमारा अनुमानित निवेश 15 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा है। भारतीय डायस्पोरा की मजबूत उपस्थिति को देखते हुए कैरेबियाई देशों के साथ हमारे ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक सम्बंधों में जन से जन संपर्क एवं सांस्कृतिक आदान-प्रदान से मजबूती आई। वर्ष के दौरान मैक्सिको सिटी तथा साओ पाउलो में भारतीय सांस्कृतिक केंद्र खोले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.