गति एवं मापन से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य Important Facts Related to Motion and Measurement

  • राशि: जिसे संख्या के रूप में प्रकट किया जा सके, उसे राशि कहते हैं, जैसे जनसंख्या, आयु, वस्तु का भार, मेज की लम्बाई आदि।
  • भौतिक राशियां: भौतिकी के नियमों को जिन्हें राशियों के पदों में व्यक्त किया जाता है उन्हें भौतिक राशियां कहते है, जैसे-वस्तु का द्रव्यमान, लम्बाई, बल, चाल, दूरी, विद्युत धारा, घनत्व आदि।
  • SI पद्धति में S का अर्थ है System तथा I का Internatonal अतः 'SI' पद्धति के स्थान पर केवल SI लिखा जाता है-आजकल इसी पद्धति का प्रयोग किया जाता है। इस पद्धति में सात मूल मात्रक तथा दो सम्पूरक मात्रक होते हैं।
  • SI के सात मूल मात्रक हैं, जो निम्न हैं-

लम्बाई का मूल मात्रक - मीटर

द्रव्यमान का मूल मात्रक - किलोग्राम

समय का मूल मात्रक – सेकेण्ड

विद्युतधारा का मूल मात्रक - ऐम्पियर

ताप का मूल मात्रक - केल्विन

ज्योति तीव्रता का मूल मात्रक - कैण्डेला

पदार्थ की मात्रा का मूल मात्रक - मोल


नोट: मोल पदार्थ का परिमाण का मात्रक है, यह द्रव्यमान का मात्रक नहीं है।

  • प्रकाश वर्ष दूरी का मात्रक है। एक प्रकाश वर्ष निर्वात में प्रकाश के द्वारा एक वर्ष में चली गई दूरी है जो 46 × 1015 मी. के बराबर होती है।
  • पारसेक दूरी मापने की सबसे बड़ी ईकाई है।

1 पारसेक = 3 × 1016 मीटर

  • दूरी अदिश राशि है, जबकि विस्थापन सदिश राशि है।
  • ऐस्ट्रोनामिकल मात्रक इकाई सूर्य और पृथ्वी के मध्य औसत दूरी के बराबर होता है जिसका 496 × 108 कि.मी. है।
  • यदि किसी मीनार से एक गेंद को उध्र्वतः नीचे तथा दूसरी गेंद को क्षैतिजतः प्रक्षिप्त किया जाए तो दोनों गेंदें पृथ्वी से नीचे आने में समान समय लेंगी।
  • स्टेरेडियन ठोसी कोणों को मापने का मात्रक है।
  • नॉट, समुद्री जहाज की गति मापने का मात्रक है।

1 नॉट = 1852 मीटर/घण्टा

  • नॉटीकल मील-समुद्री दूरी मापने का मात्रक है।

1 नॉटीकल मील = 1852 मीटर

  • फैदम, गहराई को मापने का मात्रक हैं।
  • गोनियोमीटर से क्रिस्टल का कोण मापते है।
  • एक समान वृत्तीय गति में त्वरण तथा वेग दोनों में ही परिवर्तित होते रहते हैं, परन्तु चाल नियत रहती है।
  • चन्द्रमा पर पहुंचने वाला प्रथम अन्तरिक्ष यान ल्यूनिक – II है।
  • हेली पुच्छल तारा 76 वर्ष बाद दिखाई पड़ता है।
  • भारत का प्रथम उपग्रह रूस के कोस्मोंड्रोम से प्रक्षेपित किया था।
  • राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 28 फरवरी को मनाया जाता है। यह सी.बी रमन की खोज रमन प्रभाव के प्रकाश में आने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।
  • Indian Insitute of Astrophysics कोडाईकनाल (तमिलनाडु) में है।
  • किसी पिण्ड का भार ध्रुवों पर अधिक होता है।
  • यदि कोई बड़ा बल थोड़े समय के लिये कार्य करे, तो बल और समय के गुणनफल को आवेग कहते हैं।
  • संवेग परिवर्तन की दर बल के बराबर होती है।
  • जब दूध को बिलोया जाता है तो अभिकेन्द्रीय बल के कारण क्रीम दूध से अलग हो जाती है।
  • घूर्णन गति में द्रव्यमान की अनुरूपता जड़त्व आपूर्ण द्वारा होती है।
  • अल्टीमीटर यंत्र से विमानों की ऊंचाई मापी जाती है।
  • टैकोमीटर से वायुयानों की गति मापी जाती है।
  • प्रकाश वर्ष दूरी का मात्रक है: एक प्रकाश वर्ष = 46 x 1012 किमी.।
  • पारसेक दूरी का मात्रक है तथा 1 पारसेक = 3 × 1016 मीटर।
  • लैम्प की बत्ती में तेल केशिकीय उन्नयन (Capillary ascent) के कारण चढ़ जाता है। ऐसा पृष्ठ तनाव के कारण होता है।
  • समुद्र तट पर वायुमण्डलीय दाब 1 बार होता है।
  • किसी समय अन्तराल में वायुमण्डलीय दाब के परिवर्तनों को कागज पर अंकित करने वाला यंत्र बैरोग्राफ (Barograph) है।
  • गैस का दाब नापने का यंत्र मैनोमीटर (Manometer) है।
  • नॉट समुद्री जहाज की गति नापने की मात्रक है।

1 नॉट = 1852 मीटर/घण्टा।

  • नॉटीकल मील समुद्री दूरी के नापने की मात्रक है। 1 नॉटीकल मील = 1852 मीटर।
  • गोनियोमीटर यंत्र से क्रिस्टल का कोण नापते हैं।
  • दूध की शुद्धता, लेक्टोमीटर से मापी जाती है।
  • किसी बर्तन में तैरती हुई बर्फ के पिघलने से पानी के तल पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • भारतीय प्रमाणिक समय ग्रीनविच समय से 5 1/2 घण्टे आगे है।
  • दाब नापने का मात्रक पास्कल है, जो 1 न्यूटन/मी2 दाब के बराबर है।
  • द्रव का प्रवाह नापने का मात्रक क्यूसेक है, जो 1 घन फुट प्रति सेकण्ड के प्रवाह के बराबर है।
  • 0°C से 4°C तक गर्म करने पर पानी सिकुड़ता है।
  • पानी का अधिकतम घनत्व 4°C पर होता है।
  • बैरोमीटर का पाठ्यांक गिरते रहने से वर्षा होने का संकेत मिलता है।
  • एनिमोमीटर यंत्र से वायु की शक्ति तथा गति को मापा जाता है।
  • टैकोमीटर यंत्र से वायुयानों (या मोटर बोटों) की गति मापी जाती है।
  • श्यानता गुणांक का मात्रक पॉएज है।
  • बैरोमीटर रीडिंग में अचानक गिरावट आ जाने से आँधी-तूफान आने का संकेत मिलता है।
  • प्राथमिक स्वर्ण 24 कैरेट का होता है।
  • पारसेक (PARSEC) तारों संबंधी दूरियाँ मापने का मात्रक है। यह 25 प्रकाश वर्ष के बराबर होता है।
  • हाइड्रोमीटर से आपेक्षिक घनत्व (Relative Density) की माप की जाती है।
  • गति का प्रथम नियम: वस्तु अपनी विरामावस्था अथवा सरल रेखा पर एक समान गति की अवस्था में तब तक बनी रहती है, जब तक उस पर कोई असंतुलित बल कार्य न करे।
  • वस्तुओं द्वारा अपनी गति की अवस्था में परिवर्तन का प्रतिरोध करने की प्रवृत्ति को जड़त्व कहते हैं।
  • किसी वस्तु का द्रव्यमान उसके जड़त्व की माप है। इसका SI मात्रक किलोग्राम है।
  • घर्षण बल सदैव वस्तु की गति का प्रतिरोध करता है।
  • गति का द्वितीय नियम: किसी वस्तु के संवेग परिवर्तन की दर वस्तु पर आरोपित असंतुलित बली के समानुपाती एवं बल की दिशा में होती है।
  • बल का SI मात्रक kgms2 है। इसे न्यूटन के नाम से भी जाना जाता है तथा प्रतीक N द्वारा व्यक्त किया जाता है। 1 न्यूटन का बल किसी 1 kg द्रव्यमान की वस्तु में 1 ms2 का त्वरण उत्पन्न करता है।
  • वस्तु का संवेग, उसके द्रव्यमान एवं वेग का गुणनफल होता है तथा इसकी दिशा वही होती है, जो वस्तु के वेग की होती है। इसका SI मात्रक kg ms-1 होता है।
  • गति का तृतीय नियम: प्रत्येक क्रिया के समान एवं विपरीत प्रतिक्रिया होती है। ये दो विभिन्न वस्तुओं पर कार्य करती हैं।
  • किसी विलग निकाय (वह निकाय जिस पर कि कोई बाह्य बल कार्यरत न हो) में कुल संवेग संरक्षित रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.