तरंगो से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य Important Facts About Waves

  • ध्वनि की तरंगें, अनुदैर्ध्य तरंगें होती हैं।
  • किसी डोरी में अनुप्रस्थ तरंग की चाल, तनाव के वर्गमूल के अनुक्रमानुपाती होती है।
  • निस्पंद और अगले प्रस्पंद के बीच की दूरी h/4 होती है।
  • समुद्र के अन्दर संचार एवं स्थिति आकलन के लिए सोनार यंत्र का प्रयोग किया जाता है।
  • जब कोई तरंग किसी पृष्ठ से परावर्तित होती है, तो उसके वेग, तरंगदैर्ध्य और आवृत्ति में कोई अंतर नहीं आता है।
  • तरंग का आयाम उसके वेग, तरंगदैर्ध्य अथवा आवृत्ति पर निर्भर नहीं करता।
  • मनुष्य उस विद्युत चुम्बकीय विकिरण को देख सकता है, जिसकातरंगदैर्ध्य 400nm से 700nm के बीच हो।
  • γ-किरणें विद्युत चुम्बकीय तरंगें हैं, जिनमें फोटानों की ऊर्जा बहुत अधिक होती है, अतः इनका तरंगदैर्ध्य बहुत कम होता है।
  • दो क्रमागत निस्पन्दों के बीच सभी कण समान कला में कम्पन करते हैं।
  • किसी निस्पन्द के दोनों ओर के कण कलान्तर के साथ कम्पन करते हैं।
  • अवरक्त किरणों की खोज विलियम हरशैल ने 1940 में की थी।
  • अवरक्त किरणों का उपयोग अस्पतालों में रोगियों की सिंकाई करने व कुहरे में फोटोग्राफी करने में होता है।
  • पराबैंगनी किरणों की खोज रिटर ने की थी।
  • गामा किरणों में तरंगदैर्ध्य बहुत कम होने के कारण इन किरणों में अत्यधिक ऊर्जा होती है।
  • एक्स किरणों का उपयोग चिकित्सा व औद्योगिक क्षेत्र में प्रमुख रूप से किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mobile application powered by Make me Droid, the online Android/IOS app builder.